Breaking News

सर्दियों में काढ़े का कितना सेवन है इम्यूनिटी के लिए जरूरी? जानें फायदे और नुकसान

सर्दियों में काढ़े का कितना सेवन है इम्यूनिटी के लिए जरूरी? जानें फायदे और नुकसान

कोराना की तीसरी लहर के संक्रमण में हर रोज अनेकों लोग रहा रहे हैं. ऐसे में वायरस के प्रकोप से बचने के लिए जहां लोग घरों में फिर से कैद होना शुरू हो गए हैं, तो फिर से देसी नुस्खों (home remedies) को भी यूज करना शुरू कर दिया है. कोरोना के कहर को देखते हुए ही फिर से लोगों ने अपना पूरी तरह से ध्यान रखना शुरू कर दिया है और गर्म पानी और काढ़े (Kadha) को फिर से जीवन में शामिल कर लिया है.ऐसे में आज आपको बताएंगे कि काढ़ा बनाते समय किन बातों का रखें ध्यान और क्या हो सकती हैं परेशानी-

कोरोना में काढ़े के सेवन को खुद को सुरक्षित रखने का एक कारण माना गया है और वैसे काढ़ा बनाना तो सभी को आता ही है. लेकिन फिर भी काढ़ा बनाते पर कुछ लोग एक छोटी सी गलती कर देते हैं. ऐसे में बता दें कि काढ़ा बनाते समय इस बात का ध्यान हमेशा रखना चाहिए कि बर्तन में कम पानी रखें और जरूरी चीजों को मिलाने के बाद उसे इसको तब तक उबालना होगा जब तक पानी की मात्रा आधी न रह जाए.

बचपन से ही हम सभी ने दादी-नानी के मुंह से सर्दी जुकाम में काढ़ा पीने की सलाह के बारे में खूब सुना है. घर का बना हुआ काढ़ा बीमारियों से लड़ने के लिए हमारी इम्यूनिटी को मजबूत करता है. सर्दी-जुकाम हो या फिर कोरोना काढ़ा का सही सेवन लाभदायक है. इसके अलावा अगर आप इम्यूनिटी बढ़ाना चाहते हैं तो लंबे समय से घर में प्रयोग होने वाले लौंग, हल्दी, अदरक, दालचीनी, जायफल आदि का इस्तेमाल काढ़ा बनाने में किया जाना चाहिए. इसके अलावा याद रखना चाहिए कि काढ़े की मात्रा और उसे कितना पतला या गाढ़ा होना चाहिए, यह हर व्यक्ति के लिए अलग-अलग होता है.. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अगर किसी की पाचन शक्ति कमजोर है तो काढ़ा ज्यादा पीने से उसके मुंह के छाले, एसिडिटी, पेशाब आने में दिक्कत हो सकती है.

अगर आप लंबे समय से काढ़े का सेवन कर रहे हैं, तो बता दें कि बीच बीच में इसके सेवन को बंद कर देना चाहिए. बता दें कि काढ़ा बनाने में लोग अक्सर काली मिर्च, दालचीनी, हल्दी, अश्वगंधा, गिलोय और सोंठ का यूज किया जाता है, जो शरीर को गर्म करता है, ऐसे में अक्सर महिलाओं को काढ़े के सेवन से पीरियड्स के समय परेशानी होती है. यही कारण है कि बीच बीच में काढ़ें के सेवन को बंद कर देना चाहिए. इसके अलावा प्रेग्नेंट महिलाओं को डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करना चाहिए.

No comments