Breaking News

Mansik Rog ke liye Totke: मानसिक रोग के लिए मंत्र और टोटके

Mansik Rog ke liye Totke: मानसिक रोग के लिए मंत्र और टोटके

मानसिक रोग के लिए मंत्र – आज के समय में कई लोग मानसिक बीमारी की समस्या जूझ रहे हैं. तनाव, चिंताएं, बेचैनी, असफलता का डर आम समस्याएं हो गयी है. ऐसे में इन बीमारियों को दूर करने के उपाय के बारे में जरुर पता होनी चाहिए. किसी भी बीमारी से ग्रसित होने पर अक्‍सर लोग डॉक्‍टर के पास जाते हैं और उनकी सलाह के अनुसार दवाएं आदि लेते हैं. परंतु कई बार इलाज के बावजूद रोग दूर नहीं होते. ऐसे में कुछ मंत्र बेहद कारगर सिद्ध हो सकते है.

आज के इस पोस्ट में हम आप लोगों को मानसिक रोग दूर करने के लिए मंत्र और टोटके के बारे में बताने वाले हैं. कई ऐसे मंत्र हैं जिनका जाप करने से मानसिक बीमारी में आराम मिलता है. आयुर्वेद में बताया गया है कि देवताओं का ध्‍यान-स्‍मरण करते हुए दवाओं के सेवन से ही शारीरिक और मानसिक रोग दूर होते है. चलिए यहाँ सबसे पहले मानसिक रोग क्या है और क्यों होता है और इनके लक्षण क्या हैं वो जानते हैं.
मानसिक रोग क्या होता हैं?

जब एक व्यक्ति ठीक से सोच नहीं पाता, उसका अपनी भावनाओं और व्यवहार पर काबू नहीं रहता, तो ऐसी हालत को मानसिक रोग कहते हैं. मानसिक रोगी आसानी से दूसरों को समझ नहीं पाता और उसे रोज़मर्रा के काम ठीक से करने में मुश्किल होती है.
मानसिक रोग क्यों होता है?

आपको बता दें कि आजकल की भागदौड़ भरी ज़िंदगी में मानसिक रोग की समस्या होना, एक आम समस्या है. वहीं, इस समस्या से बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक सभी जूझ रहे हैं. आमतौर पर व्यक्ति को मानसिक रोग (Mental Illness) की समस्या तब होती है, जब व्यक्ति दबाव लेने लगता है. इसके अलावा, जीवन के हर पहलू पर नकारात्मक रूप से सोचने लगता है. इसके साथ ही लाइफ में घटने वाली किसी घटना के बारे में अत्यधिक सोचना, हमेशा तनाव में रहने से मानसिक रोग की समस्या उत्पन्न होती है.
मानसिक रोग के लक्षण

मानसिक रोग के लक्षण, सभी व्यक्ति में एक तरह के नहीं होते, बल्कि यह हर व्यक्ति में अलग-अलग हो सकते हैं. ये इस बात पर निर्भर करते हैं कि व्यक्ति के हालात कैसे हैं और उसे कौन-सी मानसिक बीमारी है. कुछ लोगों में इसके लक्षण काफी लंबे समय तक रहते हैं और साफ नजर आते हैं, जबकि कुछ लोगों में शायद थोड़े समय के लिए हों और साफ नजर न आएं. यहाँ मानसिक रोग के कुछ लक्षण दिए जा रहे हैं..थकान
चिडचिडापन
उदास रहना
चिंता करना
नेगेटिव ख्याल आना
पसीना आना
अकेले रहना
मानसिक रोग को दूर करने के लिए मंत्र

आपको बता दें कि मानसिक रोगों से मुक्ति के लिए सबसे पहले आपको नकारात्मक विचारों से दूर रहना चाहिए और अपने कुंटुंब के ईष्ट देवों का ध्यान करना चाहिए. मानसिक रोग से छुटकारा पाने के लिए आप हर रोज रूद्राक्ष की माला से सुबह-शाम ‘ओम उमादेवीभ्यां नम:’ मंत्र का जप करें. ऐसा करने से मानसिक परेशानियों से मुक्ति मिलती है.

यदि आपको मानसिक रोगों से छुटकारा पाना है तो आप को दिन या रात में, जब कभी भी मौका मिले, हनुमानजी को याद करते हुए निचे दिए गये मंत्रों का मानसिक जप (मन ही मन) करना चा‍हिए.


बुद्धिहीन तनु जानिके सुमिरौं पवनकुमार.

बल बुधि बिद्या देहु मोहि हरहु कलेस बिकार.

नासै रोग हरै सब पीरा। जपत निरंतर हनुमत बीरा.

ऊपर लिखे हुए हुए दोहे के जप से हर तरह के रोग, शारीरिक दुर्बलता, मानसिक क्‍लेश आदि दूर होते हैं. खास बात यह है कि हनुमानजी के उपासक को सदाचारी होना चाहिए.
मानसिक रोग दूर करने के टोटके

मानसिक बीमारी से छुटकारा पाने के कुछ टोटके भी हैं जिसे आप आजमा सकते हैं. इन टोटके से भी मानसिक परेशानियाँ दूर होती है. यहाँ वो टोटके बताये जा रहे हैं…यदि आपको किसी चीज का तनाव या किसी चीज का भय है तो आप 11 बुधवार तक लगातार एक नारियल को नील वस्त्र में लपेटकर किसी भिखारी को दान कर दें.
अपने बाथरूम में तांबे का एक पिरामिड स्थापित करें.
मानसिक रोगों से मुक्ति के लिए चांदी के लोटा लें और उसमें जल, दूध, चावल, शक्कर और गंगाजल लेकर चंद्रमा को अर्घ्य दें.

No comments