Breaking News

स्कूलों में नहीं ले जाना होगा बस्ता school bag! बच्चों को स्कूल विभाग से बड़ी राहत

स्कूलों में नहीं ले जाना होगा बस्ता school bag! बच्चों को स्कूल विभाग से बड़ी राहत

बच्चों के स्वास्थ्य और शारीरिक विकास के साथ मानसिक विकास को देखते हुए छत्तीसगढ़ स्कूल विभाग ने बड़ा फैसला लिया है Saturday Bagless Day।अब प्रदेश के स्कूलों में शनिवार को बैगलेस-डे Saturday Bagless Day घोषित किया गया है। इसके लिए बाकायदा स्कूल शिक्षा विभाग ने निर्देश जारी कर दिए हैं। इस निर्देश के मुताबिक अब सप्ताह के प्रत्येक शनिवार को बच्चों को बस्ता लेकर स्कूल नहीं जाना होगा। स्कूल में उनका पूरा दिन योग, पीटी, खेलकूद, संगीत-नाटक-कहानी और ऐसी ही अन्य गतिविधियों में बीतेगा। अधिकारियों का कहना है, स्कूली शिक्षा को रोचक, व्यावहारिक और अपने आस-पास के माहौल से जोड़ने के लिए यह कोशिश शुरू की जा रही है।

Saturday Bagless Day

जिला शिक्षा अधिकारियों से कहा गया है कि बैगलेस-डे के दिन स्कूलों में अलग-अलग समय निर्धारित कर योग-व्यायाम, एक दूसरे से सीखना, समूह अधिगम, खेल और पुस्तकालय, समूह कार्यक्रम, सांस्कृतिक एवं साहित्यिक गतिविधि होंगी। कक्षा पहली से 8वीं तक के स्कूलों में व्यायाम, योग, क्रीड़ा प्रतियोगिता, साहित्यिक-सांस्कृतिक गतिविधियां, मूल्य-शिक्षा, कला-शिक्षा, पुस्तकों के अतिरिक्त पुस्तकालय एवं अन्य पठन सामग्रियों का उपयोग सुनिश्चित किया जा सकता है।

Saturday Bagless Day

स्कूल शिक्षा विभाग ने बैगलेस-डे का उपयोग बच्चों के कॅरियर गाइडेंस के लिए करने का भी मॉडल बनाया है। कहा गया है कि शनिवार को स्थानीय कलाकारों, शिल्पकारों, उद्यमियों, विभिन्न विभागों में कार्यरत नौकरीपेशा व्यक्तियों को विद्यालय में बुलाया जाए। उनसे बातचीत कर उनके कार्यों की जानकारी बच्चों को दें। इससे बच्चे हर तरह के काम और उसके लिए कैसे तैयारी करनी है वह जान पाएंगे। उन्हें प्रेरणा भी मिलेगी।

बता दें शिक्षा विभाग ने इसके साथ ही छात्रों को कृषि, पर्यावरण और विज्ञान की शिक्षा पर जोर देने का फैसला किया है।वहीं सरकार की ऐसी योजना है कि,स्कूलों में लोक कलाकारों को भी आमंत्रित किया जाए ताकि, बच्चों का शारीरिक और मानसिक विकास हो सके।वहीं अब स्कूलों में बच्चों को विभिन्न पेशों-नौकरियों की जानकारी भी दी जाएगी ताकि बच्चे अपनी प्रतिभा के हिसाब से अपने कैरियर क्षेत्र का चयन कर सकें।

स्कूल के बोर्ड पर होगा प्रदर्शन

स्कूल शिक्षा विभाग ने प्राचार्यों और प्रधानपाठकों को अपने स्कूल के लिए माह के प्रत्येक शनिवार की गतिविधियों की पूर्वयोजना बनाने को कहा है। यह योजना स्कूल के सूचनापट पर प्रदर्शित किया जाएगा। शनिवार की विभिन्न गतिविधियों में विद्यार्थियों के बेहतर कार्यों को यहीं पर प्रदर्शित भी किया जाएगा। उदाहरण के लिए प्रतियोगिता में श्रेष्ठ प्रदर्शकों के नाम का डिस्प्ले, विद्यार्थियों की ड्राइंग, पेंटिंग, निबंध आदि को यहीं प्रदर्शित किया जाएगा।


No comments