Breaking News

‘चोर पंचक’ में शुरू हुआ श्राद्ध पक्ष, 25 सितंबर तक इन बातों का रखें विशेष ध्यान

Shradh Paksha started in 'Chor Panchak', keep these things in mind till September 25

Pitru Paksha 2022 Puja Niyam: वैदिक पंचांग के अनुसार इस साल श्राद्ध पक्ष चोर पंचक में शुरू हुआ है। आपको बता दें कि हर साल पितृ पक्ष भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा से शुरू होते हैं और आश्विन मास की अमावस्या तक चलते हैं। इस दौरान लोग अपने पूर्वजों का तर्पण करते हैं और श्राद्ध कर्म करते हैं। इस साल पितृ पक्ष 10 सितंबर 2022 से शुरू हो रहे हैं जो 25 सितंबर 2022 तक चलेंगे। लेकिन चोर पंचक में श्राद्ध पक्ष शुरू होना शुभ नहीं माना जा रहा है। इसलिए ज्योतिष अनुसार 25 सितंबर तक इन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। आइए जानते हैं…

जानिए कब से शुरू हो रहा है पंचक काल

पंचक समाप्त तिथि और समय – 13 सितंबर 2022, मंगलवार सुबह 06:36 बजे

वैदिक पंचांग के अनुसार इस बार पंचक 9 सितंबर से शुरू हो रही हैं। वहीं श्राद्ध 10 सितंबर से शुरू हो रहे हैं। ज्योतिष शास्त्र में शुक्रवार से शुरू होने वाले पंचक को चोर पंचक कहते हैं। इस दौरान यात्रा नहीं करनी चाहिए और इसी के साथ पैसों से जुड़ा कोई भी काम पूरी तरह से वर्जित माना जाता है। यह भी माना जाता है कि इस दौरान धन हानि होने की प्रबल संभावना है।
इन कार्यों को करने से बचें
नया और मांगलिक कार्य करने से बचें

पितृ पक्षों के दिनों में कोई भी मांगलिक कार्य करने की मनाही होती है। इसलिए इन दिनों में आप कोई भी मांगलिक और नया काम काम शुरू नहीं करना चाहिए। साथ ही नई कोई चीज और नए कपड़े नहीं खरीदना चाहिए।

बाल कटवाने से बचना चाहिए

श्राद्ध पक्ष में दाढ़ी और सिर के बाल नहीं कटवाने चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से पूर्वज नाराज हो जाते हैं।

तामसिक भोजन खाने से बचना चाहिए

पितृ पक्ष के दौरान अंडा, मांस के सेवन से बचना चाहिए। क्योंकि भोजन का प्रभाव हमारे मन पर भी पड़ता है और ये अंडा, मांस तामसिक भोजन में आते हैं। इसलिए पितृ पक्ष में तामसिक भोजन खाने से बचना चाहिए।

पशु या मांंगने वाले को कुछ जरूर दें

पितृ पक्ष में कभी भी द्वार पर कोई पशु या मांगने वाला आए तो उसे अन्न जल जरूर देना चाहिए। कहते हैं पितृपक्ष में पितर किसी रूप में भी आकर अन्न जल की इच्छा कर सकते हैं।

No comments