Breaking News

चर्म रोग की होम्योपैथिक दवा: Charm Rog Ki Homeopathic Dawa

charm-rog-ki-homeopathic-dawa


चर्म रोग की होम्योपैथिक दवा – हमारी पांच इंद्रियों में, त्वचा हमारे शरीर की सबसे बड़ी इंद्रियों में से एक है. हमारा पूरा शरीर त्वचा से ढका हुआ है. त्वचा हमें विभिन्न हानिकारक रसायनों, हानिकारक तरंगों, कीटाणुओं से बचाती है. त्वचा हमारे शरीर की आंतरिक गर्मी को संतुलित करती है. यह हमारे शरीर का सबसे संवेदनशील हिस्सा है. त्वचा से हम बाहरी किसी भी चीज का एहसास करते हैं.

हमारे शरीर में अलग-अलग समय पर विभिन्न चर्म रोग जैसे की जननांग दाद, एक्जिमा, खाज, सिर में खुजली, अंडकोष में खुजली आदि अलग-अलग कारणों से होते हैं. आपको बता दें कि एक सर्वेक्षण के अनुसार, लगभग 20% से 30% आबादी को किसी न किसी रूप में त्वचा रोग है. ऐसे में ये चर्म रोग का इलाज के बारे में जानना चाहते हैं.

यदि आप भी चर्म रोग के इलाज के लिए दवाएं के बारे में जानना चाहते हैं. तो ये पोस्ट पूरा पढ़ें. आज के इस पोस्ट में आप लोगों को चर्म रोग की होम्योपैथिक दवा के बारे में बताने वाले हैं. होम्योपैथिक दवाएं एक मात्र ऐसी दवा है जो किसी भी प्रकार के चर्म रोग को ठीक कर सकती हैं. तो चलिए जानते हैं…

चर्म रोग की होम्योपैथिक दवा

यहां लक्षणों के अनुसार विभिन्न प्रकार के चर्म रोग की होम्योपैथिक दवा जैसे- दाद, खाज, खुजली, एक्जिमा, सोरायसीस, सफ़ेद दाग आदि के बारे में बताया गया है.खुजली जैसे चर्म रोग के लिए होम्योपैथिक दवा

Antim Crud 30 – यदि आपको त्वचा पर छाले आदि हो तो यह दवा उपयोगी है. चेहरे, पीठ, हाथों, छाती पर घाव में भी लाभदायक होता है.

Aloes Soc 30 – शरीर के त्वचा के किसी भी हिस्से पर खुजली होने पर उपयोगी है.

Alumina 200 – सर्दी में दाद , कब्ज के साथ त्वचा की समस्याएं, सूखी त्वचा, बहुत खुजली, जब तक खून न निकल रहा है तब तक खुजली होता है. ऐसे स्थिति में यह दवा कारगर है.

Croton tig 200 – खुजली से त्वचा पर छाले पड़ जाना. खुजली पानी और ठंड लगने से बढ़ जाती है.

Anagalis arv 30 – हथेली पर खुजली, हाथों और उंगलियों में खुजली.दाद की होम्योपैथिक दवा

Acid Chryso 200 – खुजली, दाद, घावों, छालरोग और निम्नांग में एक्जिमा आदि में उपयोगी

Tellurium 30 – मुंह में दाद, जननांग दाद , शरीर पर किसी भी तरह के दाद में लाभदायक है.एक्जिमा की होम्योपैथिक दवा

Nat mur 200 – दाढ़ी में एक्जिमा (eczema), कोहनी के नीचे, घुटनों के नीचे और अंडकोष में खुजली में बहुत उपयोगी है, पानी से खुजली बढ़ जाता है.

Graphites 200 – त्वचा मोटी, हथेली के विपरीत पृष्ठ पर एक्जिमा, फटी, उंगलियों की त्वचा मोटी होती है. चेहरे पर, कान के पीछे, पलकों पर, जननांग फुंसी या मसूड़ों के घाव. वहां से शहद जैसा चिपचिपा रस निकलता है. छाले में मछली तराजू जैसे पदार्थ से ढक जाता है.

Petroleum 200 ( पेट्रोलियम ) – उपरोक्त Graphites के समान लक्षण लेकिन खुजली सर्दियों में बढ़ते हैं और गर्मियों में घटते हैं.

No comments