Breaking News

Karwa Chouth 2022 पर आपके शहर में कितने बजे दिखेगा चांद? यहां पढ़ें पूरी लिस्ट

karwa-chouth-2022-timing-of-moon

सुहागिन महिलाएं पति की लंबी आयु के लिए कार्तिक माह की चतुर्थी तिथि को करवा चौथ का व्रत रखती हैं। ऐसे में इस साल यानि 2022 में गुरुवार, 13 अक्टूबर 2022 को करवा चौथ का व्रत रखा जाएगा। इस व्रत का समापन चंद्रमा को अर्घ्य देने के बाद होता है। माना जाता है कि के अनुसार करवा चौथ का व्रत हिंदू महीने कार्तिक में कृष्ण पक्ष चतुर्थी के दौरान किया जाता है।

विवाहित महिलाएं भगवान शिव की पूजा करती हैं और चंद्रमा को प्रसाद चढ़ाने के बाद ही व्रत खोलती हैं। उपवास अत्यंत सख्त है; सूर्योदय के बाद पूजा समाप्त होने तक किसी को कुछ भी खाना या पीना नहीं चाहिए, यहां तक कि पानी की एक बूंद भी नहीं पीनी चाहिए।

ऐसे में इस व्रत को रखने वाली महिलाएं निर्जला रहकर बेसब्री से चांद दर्शन का इंतजार करती है। वहीं चांद दिखने का समय देश के विभिन्न शहरों में अलग-अलग रहता है। एक ओर जहां कहीं जगह पहले चांद दिखाई देने लगता है, तो वहीं अन्य जगहों पर इसके लिए थोड़ा और इंतजार करना पड़ता है। करवा चौथ एक पारंपरिक हिंदू त्यौहार है जो दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ सहित उत्तर भारत के कई राज्यों में मनाया जाता है।


करवा चौथ का त्योहार ज्यादातर भारत के उत्तरी भाग में और दुनिया भर में विवाहित हिंदू महिलाओं के बीच मनाया जाता है। इस दिन परंपरा के अनुसार पत्नी अपने पति की लंबी और स्वस्थ जिंदगी के लिए व्रत रखती है।

रात में चांद देखने के बाद ही व्रत खोला जाता है। इन दिनों, पतियों ने भी उपवास करना शुरू कर दिया है, ताकि समानता को बढ़ावा दिया जा सके और अपना समर्थन दिखाया जा सके।
चौथ पूजन के लिए शुभ मुहूर्त
इस बार चतुर्थी तिथि गुरुवार, 13 अक्टूबर 2022 को चतुर्थी 03:08 AM, जो कि शुक्रवार, Oct 14 तक को 04:50 AM तक रहेगी। ऐसे में करवा चौथ पूजन के लिए शुभ मुहूर्त 13 अक्टूबर 2022 को करवा चौथ पर पूजा का सबसे अच्छा मुहूर्त शाम 04 बजकर 08 मिनट से लेकर 05 बजकर 50 मिनट तक रहेगा। इसमें पंचांग के आधार पर परिवर्तन आ सकता है। वहीं यह मुहूर्त अमृतकाल है। इसके अलावा सुहागिन महिलाएं करवा चौथ की पूजा दिन के अभिजीत मुहूर्त काल में भी की जा सकती है। तो आइये जानते है आपके शहर में चंद्र दर्शन का समय क्या है।


करवा चौथ की सुबह क्या करें
इससे पहले करवा चौथ की सुबह ससुराल में सास की तरफ से सरगी आती है। करवा चौथ का व्रत महिलाएं सरगी की थाली में आए सामान को सुबह खाकर ही अपना व्रत शुरू करती हैं। माना जाता है कि सरगी सूर्योदय से पहले खा लेनी चाहिए।

दरअसल सास की तरफ से आई इस थाली में ऐसे खाद्य पदार्थ होते हैं जिनसे महिलाओं को निर्जला व्रत रहने में ज्यादा दिक्कत का सामना न करना पड़े। सास की तरफ से इसे आशीर्वाद के तौर पर बहू को भेजा जाता है।
होता क्या है इस थाली में?

सरगी की थाली में फल इंस्टेंट एनर्जी देते हैं, वहीं फलों में फाइबर और पानी की मात्रा अधिक मात्रा पाई जाती है जो दिनभर निर्जला व्रत रखने में सहायक होते हैं।

इसके अलावा इस थाली में मिठाइयां भी होती हैं, जिनमें कैलोरी की काफी मात्रा में होने के चलते पूरे दिन भूख कम ही लगती है।

वहीं इस थाली में दूध सेंवई चीनी और ड्राई फ्रूट्स को मिलाकर बनाई गई सेंवई भी होती है, जो कई पोषक तत्वों से भरपूर भी होती है।

साथ ही सरगी की इस थाली मेवे जैसे बादाम, अखरोट, काजू, किशमिश और अंजीर भी शामिल होते हैं, जो कैलोरीज और न्यूट्रिशन्स से भरपूर होते हैं और दिनभर शरीर में एनर्जी देते रहते हैं।

चांद के समय को लेेकर कहीं असमंजस में तो नहीं हैं आप

करवा चौथ हो और चांद की बात न हो ऐसा कैसे हो सकता है। हो सकता है आप सोच रही हों कि इस बार चांद कितने बजे निकलेगा। आपकी इस परेशानी हम दूर कर देते हैं। हम आपको बता रहे हैं, भारत के प्रमुख शहरों में 13 अक्टूबर 2022 को चंद्रमा उदय का समय, आप भी जान लीजिए।

ऐसे में आज हम आपको देश के कुछ महत्वपूर्ण शहरों में चांद किस वक्त दिखाई देगा, इस संबंध में बता रहे हैं। आप इन शहरों में चांद मौसम की स्थिति के आधार पर देख पाएंगे।

करवा चौथ पर चांद निकलने का समय-

आपके शहर में चंद्र उदय का समय- विभिन्न शहरों में संभावित घंटे इस प्रकार हैं:

आपका शहर : चांद निकलने का समय
दिल्ली : 20 बजकर 09 मिनट 22 सेकेंड पर
नोएडा : 20 बजकर 08 मिनट पर
मुंबई : 20 बजकर 47 मिनट 44 सेकेंड पर
जयपुर : 20 बजकर 18 मिनट पर
देहरादून : 20 बजकर 02 मिनट पर
लखनऊ : 19 बजकर 58 मिनट 16 सेकेंड पर
शिमला : 20 बजकर 03 मिनट पर
गांधीनगर : 20 बजकर 51 मिनट पर
इंदौर : 20 बजकर 28 मिनट 09 सेकेंड पर
भोपाल : 20 बजकर 20 मिनट 32 सेकेंड पर
अहमदाबाद : 20 बजकर 41 मिनट पर
कोलकाता : 19 बजकर 36 मिनट 49 सेकेंड पर
पटना : 19 बजकर 44 मिनट पर
प्रयागराज : 19 बजकर 57 मिनट 32 सेकेंड पर
कानपुर : 20 बजकर 02 मिनट पर
चंडीगढ़ : 20 बजकर 06 मिनट पर
लुधियाना : 20 बजकर 10 मिनट पर
जम्मू : 20 बजकर 08 मिनट पर
बंगलूरू : 20 बजकर 40 मिनट पर
गुरुग्राम : 20 बजकर 21 मिनट पर
असम : 19 बजकर 11 मिनट पर
जबलपुर : 20 बजकर 10 मिनट 15 सेकेंड पर
उज्जैन : 20 बजकर 27 मिनट 31 सेकेंड पर
ग्वालियर : 20 बजकर 10 मिनट 56 सेकेंड पर

करवा चौथ पूजा सामग्री लिस्ट
पुष्प, कच्चा दूध, शक्कर, शुद्ध घी, दही, मिठाई, गंगाजल, अक्षत, सिंदूर, मेहंदी, आलता, कंघा, बिंदी, चुनरी, चूड़ी, बिछुआ, मिट्टी का टोंटीदार करवा व ढक्कन, दीपक, रुई, कपूर, गेहूं, शक्कर का बूरा, हल्दी, जल का लोटा, गौरी बनाने के लिए पीली मिट्टी, चंदन, शहद, अगरबत्ती, लकड़ी का आसन, चलनी, आठ पूरियों की अठावरी, हलुआ और दान-दक्षिणा।

No comments