Breaking News

पढ़ाई में याद करने का मंत्र | पढ़ाई में याद करने का तरीका

padhayi-me-yaad-karne-ka-mantra

पढ़ाई में याद करने का मंत्र – क्या आप एक विद्यार्थी है और आपका पढाई में मन नहीं लगता है. यदि आपका जवाब हां है, तो आज का ये पोस्ट आपके लिए ही है. आज के इस पोस्ट में आप लोगों को पढ़ाई में मन कैसे लगाएं? इसकी जानकारी देने वाले हैं. हम सभी जानते हैं कि कई प्रकार के विद्यार्थी होते हैं. कुछ तेज तो कुछ मंद बुद्धि के छात्र होते हैं. कुछ विद्यार्थी ऐसे होते हैं जो किसी चीज को देखकर याद कर लेते हैं और कुछ ऐसे भी होते हैं जिन्हें रटने पर भी याद नहीं होता.

इतना ही नहीं कुछ ऐसे विद्यार्थी भी होते है जिन्हें पढ़ाई में मन नहीं लगता हैं. या फिर कुछ विद्यार्थी होते है जो पढ़ाई तो करते है, लेकिन पढ़ा हुआ जल्दी भूल जाते हैं. अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा है. ऐसा देखा गया है कि कुछ छात्रों के मन में पढ़ने की इच्‍छा तो बड़ी प्रबल होती है, पर पढ़ाई में उनका ध्‍यान नहीं लगता है. किताब के खुले पन्‍ने छात्र को निहार रहे होते हैं और विद्यार्थी का ध्‍यान अक्‍सर भटककर कहीं दूसरी जगह चला जाता है.

दूसरी तरह की समस्‍या यह देखी जाती है कि कुछ लोग पढ़ाई तो गंभीरता के साथ करते हैं, पर वे पढ़ी हुई बातों को याद नहीं रख पाते. इस तरह की समस्‍याओं का निदान श्रीरामचरितमानस के मंत्र से संभव है. तो चलिए आज के पोस्ट के जरिये हम लोग पढ़ाई में याद करने का मंत्र या पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र के बारे में जानते हैं…
पढ़ाई में मन न लगने का कारण

कुछ भी चीज यदि मन लगाकर नहीं किया जाता तो वो चीजें पूर्ण नहीं हो पाती है. यदि आपका मन पढ़ाई में नहीं लगता तो लाख कोशिशों और रटने के बाद भी आपको किताब का एक अक्षर याद नहीं होगा. पढ़ाई में मन न लगने का कई कारण है. तो पढ़ाई में किसी भी चीज को याद करने से पहले पढ़ाई में मन न लगने न कारण जानते हैं…मोबाइल में चिपके रहना
विषय में रूचि न होना
प्रेरणा न मिलना
एक उचित टाइम टेबल का न होना
तेज दोस्त न होना
मन स्थिर न होना

पढ़ाई में याद करने का 3 मंत्र

यदि आपको उपर्युक्त कारणों से पढ़ाई में मन नहीं लगता तो सबसे पहले इन कारणों का निदान करें. पहले अपने पढ़ाई में मन लगाएं. यदि आपको पढ़ने के बाद कोई चीज याद नहीं रहता तो यहाँ बताये मन्त्र का जाप करें. इससे आपका याददाश्त बढ़ेगी.


ॐ ऐं ह्नीं क्लीं सरस्वती बुद्धिजन्यै नमः

हिंदू धर्म में माता सरस्वती को ज्ञान और विद्या की देवी के रूप में माना जाता हैं. अगर हम माता सरस्वती का यह मंत्र 108 बार जाप करे. तो हमारी यादशक्ति बढती हैं तथा पढ़ा हुआ सबकुछ याद रहता हैं.


ॐ भूर्भुवः स्व: तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो न: प्रचोदयात्

यह गायत्री मंत्र है जो बहुत ही प्रभावशाली है. इसके बारे में तो हम सभी लोग जानते ही हैं. अगर विद्यार्थी गायत्री मंत्र का नियमित रूप से रोजाना अपनी इच्छा अनुसार जाप करते हैं. तो आपकी यादशक्ति बढ़ेगी. और पढ़ा हुआ लंबे समय तक याद रहेगा.


ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः

यह बुध ग्रह का मन्त्र है. जैसे गुरु ग्रह को ज्ञान का कारक माना जाता हैं. इसी प्रकार बुध ग्रह को बुद्धि का कारक माना जाता हैं. अगर आपका दिमाग याद रखने सक्षम नहीं हैं और पढ़ा हुआ भूल जाते हैं तो बुध ग्रह का यह मंत्र 108 बार जाप करने से बुद्धि बढ़ती हैं. इस मन्त्र का जाप करने से पढ़ाई में मन लगने के साथ पढ़ा हुआ याद भी रहता हैं.

पढ़ाई में याद करने का तरीका

पढ़ाई में अगर किसी चीज को याद करना चाहते हैं तो उसके कुछ तरीके हैं. ऐसे ही कोई भी चीज याद नहीं हो जाती. यहाँ हम आपको कुछ ऐसे तरीके बता रहे हैं जिसे करने से आपको पढाई में कोई भी चीज लंबे समय तक याद रहेंगी.सबसे पहले जिस चीज याद करना है उसे 10 बार पढ़ें.


पढ़ने के बाद अब इसे कॉपी में 10 बार लिखें.
अब जो चीज याद करना है उसे रटने की कोशिश करें.
रटते हुए उसे आप अपने दैनिंक जीवन से भी जोड़े. ऐसा करने से जल्दी याद होगा.
रटने के बाद अब उस चीज को दिमाग में याद करके बिना देखें लिखें.
लिखते समय जहाँ अटक जाते हैं वहां देखकर उसे याद कर लें.
याद करते समय पढ़ाई के आलावा कही और ध्यान न दें.
अगर आप पढ़ाई में रूचि रखेगे तो पढ़ा हुआ याद रहेगा. इसलिए सबसे पहले पढ़ाई के प्रति रूचि बढ़ानी होगी.
पढ़ा हुआ याद रखने के लिए शांत स्टडी रूम का चयन करे.
पढ़ाई करते समय टीवी, मोबाइल तथा आदि गेजेट्स दूर रखे.

No comments