Breaking News

दूध में मिलाकर पिएं गुड़ और तुलसी, होंगे चौकाने वाले फायदे

health-benefits-of-tulsi-jaggery-and-milk

हम सभी इस बात से वाकिफ हैं कि रात को दूध पीने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। जी हाँ और सर्दियों का मौसम हो तो मां दूध में हल्दी डाल देती है, तो कभी दूध के साथ गुड़ खिलाती है ताकि बॉडी अंदर से स्ट्रांग बन सके। हालाँकि खांसी, जुकाम की समस्या हो तो मां तुलसी के पत्तों को दूध में उबालकर पिलाती है, ताकि इम्यूनिटी स्ट्रांग हो। अब आज हम आपको दूध के साथ गुड़ और तुलसी मिलाकर पीने के फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं। आइए जानते हैं। जी दरअसल दूध के साथ गुड़ और तुलसी मिलाकर पीने से न सिर्फ शरीर की इम्यूनिटी स्ट्रांग होती है बल्कि ये स्किन को ग्लोइंग बनाने का भी काम करती है।

सिरदर्द से राहत- तुलसी की पत्तियों में विटामिन सी, कैल्शियम, जिंक और आयरन पाया जाता है। इसके अलावा तुलसी के पत्तों को जब दूध और गुड़ के साथ उबाला जाता है, तो इसमें कैल्शियम के अलावा कई सारे पोषक तत्व आ जाते है, जो सिरदर्द से राहत दिलाने में मददगार साबित होते हैं।

हार्ट मजबूत- रात को तुलसी, गुड़ और दूध पीना हृदय स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है। जी हाँ और गुड़ में भरपूर मात्रा में कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, पोटेशियम और फास्फोरस होता है। इसके अलावा तुलसी विटामिन सी, कैल्शियम का अच्छा सोर्स है ये सभी चीजें हृदय स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण होती है।

सांस के रोग- जिन लोगों को सास से संबंधी कोई बीमारी है तो वह भी इस दूध का सेवन करें। इसे पीने से आपको काफी आराम मिलेगा।

तनाव और डिप्रेशन- तनाव और डिप्रेशन से छुटकारा पाने के लिए रात को सोने से पहले तुलसी, गुड़ और दूध पीने की सलाह दी जाती है। तुलसी, गुड़ और दूध के पोषक तत्व मानसिक तनाव और डिप्रेशन के लक्षणों से लड़ने में मदद कर सकता है।

कोल्ड की समस्या दूर होगी- जब आपको खांसी या जुकाम हो तब आप तुलसी ले सकते हैं, हालाँकि अगर गर्म दूध में तुलसी मिलाकर उसका सेवन करेंगे तो आपका कोल्ड जल्द ही गायब हो जाएगा।

कैसे बनाएं गुड़ और तुलसी वाला दूध?- इसको बनाने के लिए सॉस पैन में 2 गिलास दूध को उबाल लें। इसके बाद उबले हुए दूध में 2 से 4 पत्तियां तुलसी की डालें और पकाएं। अब जब दूध और तुलसी सही तरीके से पक जाए तो उसमें गुड़ या गुड़ का पाउडर डालकर मिक्स करें। इसके बाद 1 मिनट तक इसे पकाएं और छलनी की मदद से गिलास में छान लें। वहीँ जब दूध हल्का गर्म रहे तभी इसका सेवन करें।

No comments