Breaking News

प्रदेश में 22 सीटों पर प्रभाव डालेगा 42 हलकों में महिलाओं का पुरुषों से अधिक मतदान

प्रदेश में 22 सीटों पर प्रभाव डालेगा 42 हलकों में महिलाओं का पुरुषों से अधिक मतदान

हिमाचल प्रदेश में प्रमुख दलों द्वारा महिलाओं के लिए की गई घोषणाओं को अधिक महिला मतदान के कारण के रूप में देखा जा रहा है। हिमाचल प्रदेश में 49.5 महिला मतदाताओं का प्रभाव चुनाव परिणाम पर रहेगा। प्रदेश निर्वाचन विभाग को मिले विधानसभा क्षेत्रवार आंकड़ों के अनुसार महिलाओं द्वारा किया मतदान पुरुषों के मतदान से 4.4 प्रतिशत अधिक है। प्रदेश की 68 में से 42 सीटों पर महिला मतदान अधिक रहा है। हिमाचल प्रदेश में 14वीं विधानसभा के लिए हुए मतदान का प्रतिशत 75.6 रहा है जो पहले से कुछ अधिक है।

सात विधानसभा क्षेत्रों में पुरुषों के मुकाबले महिला मतदान 5000 से अधिक रहा

सात विधानसभा क्षेत्रों में पुरुषों के मुकाबले महिला मतदान 5000 से अधिक रहा है। जोगिंद्रनगर में यह अंतर 8189 है और उच्‍चतम है। सुलाह में अंतर 6276, जयसिंहपुर में 6,048, बड़सर में 6,035, भोरंज में 5,882, नादौन में 5,536 और सुजानपुर में 5,613 है। 11 सीटें ऐसी हैं जिनमें पुरुष मतदान महिला मतदान से 3000 से 5000 तक अधिक है। इनमें बैजनाथ (4,962), ज्‍वालामुखी ( 4,856), जवाली (4,477), धर्मपुर (3,985), देहरा (3,923), फतेहपुर (3,638), हमीरपुर (3,520), नगरोटा (3,489), पालमपुर (3,381) शाहपुर (3,334) हैं।

आंकड़ों के अनुसार 2,788,925 (2,019,182) में से 72.4 फीसद पुरुषों ने मतदान किया जबकि महिला मतदान प्रतिशत 76.8 रहा। 2,737,845 महिला मतदाताओं ने मत दिया जो पुरुषों से 82,301 अधिक है।
चुनाव में कुल 412 प्रत्‍याशियों में से 24 महिलाएं हैं

माना जा रहा है कि महिलाओं द्वारा किया गया अधिक मतदान 22 सीटों पर असर दिखा सकता है। तीन सीटों जयसिंहपुर, भोरंज और जुब्‍बल कोटखाई में महिला मतदाता अधिक हैं। अन्‍य19 सीटों में महिला और पुरुषों में अंतर 1000 से कम है। कांग्रेस और भाजपा दोनों ने महिला मतदाताओं के लिए लुभावनी घोषणाएं की हैं। कांग्रेस ने 18 से 60 वर्ष की महिलाओं को 1500 रुपये प्रतिमाह देने का ऐलान किया है जबकि भाजपा ने नौकरियों में 33 फीसद आरक्षण महिलाओं को देने की बात की है। भाजपा सरकार में मंत्री सरवीण चौधरी कहती हैं कि महिलाओं का बड़ी संख्‍या में मतदान के लिए निकलना अच्‍छा संकेत है। जबकि कांग्रेस नेता आशा कुमारी का दावा है कि यह कांग्रेस के लिए अच्‍छा संकेत है।

No comments