Breaking News

वास्तु अनुसार घर की इस दिशा में लगाएं केले का पेड़

वास्तु अनुसार घर की इस दिशा में लगाएं केले का पेड़

घर में पेड़- पौधे लगाने का शौक लगभग हर इंसान को होता है। क्योंकि इससे वातावरण शुद्ध रहता है और घर से नकारात्मकता दूर होती है। लेकिन क्या आपको पता हैं पेड़- पौधे लगाने से घर के वास्तु दोष को दूर किया जा सकता है। साथ ही किसी न किसी पौधे संबंध ग्रह और भगवान से भी होता है। यहांं हम बात करने जा रहे हैं केले के पेड़ के बारे में, जिसका संबंध भगवान विष्णु और गुरु ग्रह से माना जाता है। केले की जड़ को पीले धागे में बांधकर धारण करने से बृहस्पति मजबूत होता है। आइए जानते हैं वास्तु अनुसार कि केले का पेड़ घर की किस दिशा में लगाना शुभ होता है।

इस दिशा में लगाएं केले का पेड़ वास्तु अनुसार केले को पेड़ को कभी भी पूर्व-दक्षिण के मध्य स्थान (आग्नेय कोण), दक्षिण दिशा के अलावा पश्चिम दिशा में नहीं लगाना चाहिए। मान्यता है इस दिशा में लगाने से पूर्ण फल प्राप्त नहीं होता है। आप अगर केले का पेड़ लगाने जा रहे हैं तो आप उत्तर-पूर्व या ईशान कोण में लगाना चाहिए। क्योंकि इस दिशा पर गुरु बृहस्पति का आधिपत्य है। साथ ही इस दिशा के देवता भगवान विष्णु हैं। घर के मुख्य द्वार के सामने केले का पेड़ नहीं लगाना चाहिए। ऐसा करने से सकारात्मक ऊर्जा आने पर अड़चन पड़ती है। साथ ही केले के पेड़ के साथ कांटेदार पौधे लगाने से भी बचना चाहिए। वहीं केले के पेड़ के आस पास की जगह को हमेशा साफ रखें। ऐसा करने से गुरु ग्रह के साथ भगवान विष्णु की कृपा बनी रहती है।

केले का पेड़ लगाने के लाभ ज्योतिष शास्त्र के अनुसार केले का पेड़ लगाने से आपको गुरु दोष से मुक्ति मिल सकती है। साथ ही संतान सुख प्राप्त होता है। अविवाहित कन्याओं का विवाह शीघ्र हो जाता है। साथ ही वैवाहिक जीवन में आ रही समस्याओं से मुक्ति मिलती है।

ऐसे करें केले के पेड़ की पूजा हर गुरुवार को सुबह जल्दी स्नान करके, साफ सुथरे पीले वस्त्र धारण कर लें। इसके बाद केले के पौधे में जल डालें। वहीं शुद्ध घी का एक दीपक जलाएं। इसके साथ ही केले के पौधे की 9 बार परिक्रमा करें। वहीं गुरु ग्रह के बीज मंत्र ॐ बृं बृहस्पतये नम: का मंत्र का जाप करें। साथ ही विष्णु सहस्त्रनाम का जाप करें।

No comments