Breaking News

आंतों की कमजोरी के कारण शरीर में बनी रहती हैं ये 4 परेशानियां, आप भी करें चेक!

आंतों की कमजोरी के लक्षण: आंत हमारे शरीर के सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक है। आंतों का काम भोजन को पचाना है। इसके अलावा, यह विभिन्न पदार्थों का भी उत्पादन करता है जो शरीर के अन्य भागों में संदेश ले जाते हैं और कीटाणुओं से लड़ने में मदद करते हैं और शरीर में पानी का सही संतुलन बनाए रखते हैं। इसके अलावा ये शरीर में सूक्ष्म पोषक तत्वों के अवशोषण को सही रखते हैं, जिससे शरीर को उचित पोषण मिलता है। लेकिन, जब आंतों की कार्यप्रणाली बिगड़ जाती है तो इससे शरीर को कई तरह की परेशानियां होने लगती हैं। ऐसे में आपको आंतों की कमजोरी के लक्षणों को जानना चाहिए और इससे बचना चाहिए।

1. तैलीय या दुर्गंधयुक्त मल
आंतों की कमजोरी के कारण आपका मल तैलीय या दुर्गंधयुक्त हो सकता है। दरअसल, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब आपकी आंतें भोजन को सही तरीके से नहीं पचा पाती हैं और वसा और प्रोटीन जैसे पोषक तत्व मल के माध्यम से बाहर निकल जाते हैं और इनसे तैलीय और दुर्गंधयुक्त मल निकलता है।

2. थकान और कमजोरी
थकान और कमजोरी भी आंतों के प्रायश्चित के शुरुआती लक्षणों में से कुछ हैं। दरअसल आंतों की कमजोरी के कारण शरीर में पोषक तत्वों और विटामिन की कमी हो जाती है। इससे शरीर कमजोर हो जाता है और थकान बनी रहती है। इसलिए आंतों की कमजोरी के इन लक्षणों से बचें।

3. भूख न लगना और जी मिचलाना
भूख न लगना और जी मिचलाना आंतों के प्रायश्चित के कुछ मुख्य लक्षण हैं। दरअसल, जब आपकी आंतें ठीक से काम नहीं कर रही होती हैं, तो इससे पाचन क्रिया खराब रहती है, जिससे भूख नहीं लगती है। इसके अलावा आपको जी मिचलाने की समस्या भी नहीं होती है।

No comments