Breaking News

दिनभर रहती है थकान! छह या आठ कितने घंटे की नींद है आपके लिए जरूरी

दिनभर रहती है थकान! छह या आठ कितने घंटे की नींद है आपके लिए जरूरी

आपने कई लोगों से सुना होगा कि 7 या 8 घंटे की पर्याप्त नींद लेना जरूरी होता है। बेहतर नींद लेने से हमारा स्वास्थ्य ठीक रहता है और हमारी बॉडी हमेशा एक्टिव रहती है। पर्याप्त नींद लेने से हम अगले दिन फ्रेशनेस और ऊर्जावान महसूस करते हैं। लेकिन जरूरी नहीं है कि सोने का यह समय ही सही होता है। क्योंकि कई बार यह आपके डीएनए पर भी डिपेंड करता है कि आप कितने घंटे सोने से सेहतमंद रहेंगे।

अगर हम अच्छी नींद नहीं लेते हैं तो हमें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जैसे- सिरदर्द, आलस, थकान, कमजोरी, सुस्ती, पेट में एसिड बनना जैसी समस्याएं शामिल हैं। आज हम जानेंगे कि व्यक्ति को उसके हिसाब से कितनी नींद की आवश्यकता होती है।
बदलते मौसम में

मौसम में बदलाव के कारण हमारे शरीर में भी कुछ बदलाव देखने को मिलते हैं। इन दिनों हमें अधिक नींद आती है और ठंड के मौसम में रात काफी काफी लंबी होती है और दिन के समय भी धूप कम मिलती है। यही वजह है कि हमें अधिक नींद लेने की आदत पड़ जाती है।
बीमारी में नींद की जरूरत

अच्छी नींद लेने से बीमारियों को हराया जा सकता है। जब कोई बीमारी हमें अपने चपेट में ले लेती है, जिससे हमारा शरीर कमजोर होने लगता है और हर समय नींद और थकान महसूस होती है। इस समय हमें आम दिनों की तुलना में अधिक नींद लेने की नीड होती है, जिससे कि हमारा शरीर बीमारियों से आसानी से लड़ सके।
कितने घंटे सोना जरूरी

हर एक व्यक्ति का सोने का समय अलग अलग होता है। कुछ लोग 5 घंटे से 6,7,8 या उससे ज्यादा समय तक भी नींद लेते हैं। लेकिन अगर आप 6 घंटे सोने के बाद ताजगी और सक्रियता महसूस करते हैं तो यह आपके हेल्थ के लिए अच्छा इशारा है। वहीं जिन लोगों को 6 घंटे सोने के बाद भी हमेशा थकान, हर समय नींद आना, सुस्ती जैसी परेशानी दिखे। उन्हें 8 या 9 घंटे सोना चाहिए, जिससे कि वह फ्रेश फील कर सके और पूरे दिन एनर्जी के साथ काम कर पाएं।
पीरियड्स के दिनों में

मासिक धर्म के दिनों में महिलाओं को अधिक थकान और चिड़चिड़ापन, शरीर में ऐंठन जैसी दिक्कतें महसूस होती है। इसलिए पीरियड्स टाइम में ज्यादा नींद लेने की आवश्यकता पड़ती है। वैसे तो कई महिलाओं को इन परेशानियों के चलते नींद कम आती है। लेकिन कोशिश करें कि इन दिनों में अधिक से अधिक नींद लें, जिसकी वजह से आपको दर्द और चिड़चिड़ापन से राहत मिलेगी। आप पर्याप्त और अच्छी नींद लेने के बाद अच्छा फील करेंगी।
नींद लेने के नुकसान

कई रिसर्च में पाया गया है कि कम नींद लेने वाले लोगों का इम्यून सिस्टम गड़बड़ रहता है। जो लोग 5 घंटे से भी कम सोते हैं उनका स्वास्थ्य बिगड़ने लगता है और इसका असर उनकी दिल की सेहत पर भी पड़ता है। नींद की कमी से स्तन कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर का खतरा अधिक बढ़ जाता है। कम नींद लेने वालों को एंजाइटी, मेंटल प्रॉब्लम, डिप्रेशन, चिड़चिड़ापन जैसी कई समस्याएं आसानी से अपने चपेट में ले सकती हैं। ‌साथ ही ऐसे लोगों में याददाश्त की कमी देखने को भी मिलती है। ये अन्य लोगों की तुलना में चीजों को जल्दी भूलने लगते हैं। कम सोने से मोटापा काफी तेजी से बढ़ने लगता है और आंखों की रोशनी पर भी इसका बुरा असर पड़ता है। वहीं जो लोग 9 घंटे से ज्यादा सोते हैं उनमें भी यह परेशानियां देखने को मिलती हैं।

No comments