Breaking News

MPL ने 2022 में बैन किए 10 लाख से अधिक अकाउंट, नियमों के उल्लंघन और गेमप्ले में हेरफेर का लगाया आरोप

हां ग्रेजुएट से लेकर 10वीं पास तक के लिए निकली वैकेंसी, जानें फुल अपडेट

गेमिंग प्लेटफॉर्म MPL ने 2022 में 10 लाख से अधिक अकाउंट्स को ब्लॉक कर दिया है।बता दें कि Mobile Premier League ने इन अकाउंट्स को नियमों का पालन नहीं करने और अपने पक्ष में गेमप्ले के परिणामों में हेरफेर करने के लिए बैन किया है। क्योंकि यह अनुचित तरीकों का सहारा लेकर गेम्स को जीतने की कोशिश करते हैं। ऐसे खिलाड़ियों से जुड़े 10 लाख से अधिक यूजर अकाउंट को स्थायी रूप से प्रतिबंधित कर दिया गया है।

ये हैं कारण

MPL ने बुधवार को कइस बात की जानकारी दी। यूजर अकाउंट के ब्लॉक होने के कई कारण है, जिसमें यूजर द्वारा प्लेटफॉर्म को एक्सेस के लिए कई खातों का उपयोग करना, नकली या छेड़छाड़ किए गए Know your customer’ यानी KYC डॉक्यूमेंट्स को अपलोड करना, अनधिकृत भुगतान का उपयोग करना, चोरी किए गए कार्ड और धोखा देना जैसी गलतियां शामिल हैं। इसके अलावा किसी भी हैक या मिलीभगत तकनीक का उपयोग करके गेमप्ले करना भी इस कैटेगरी में आता है

जीरो टॉलरेंस पॉलिसी पर काम कर रहा MPL

कंपनी ने कहा कि यह कदम हमारे प्लेयर-फर्स्ट अप्रोच से जुड़ा हुआ है। यह गेमप्ले परिणामों को बदलने और अनुचित लाभ लेने के लिए गलत तरीको का इस्तेमाल करने वाले यूजर्स की तरफ जीरो टॉलरेंस की पॉलिसी पर काम करता है।

90 मिलियन से अधिक रजिस्टर्ड यूजर

MPL के सिक्योरिटी एंड कंप्लायंस के वीपी रुचिर पटवा ने कहा कि इस तरह की पहल के साथ, MPL एक सुरक्षित और उपयोगकर्ता के अनुकूल प्लेटफॉर्म बने रहने के लिए तैयार है, जिस पर यूजर्स भरोसा कर सकते हैं। कंपनी के एशिया, यूरोप और उत्तरी अमेरिका में 90 मिलियन से अधिक रजिस्टर्ड यूजर हैं। जानकारी मिली है कि कंपनी सर्वश्रेष्ठ-इन-क्लास तकनीकी का भी उपयोग करती है, जो धोखाधड़ी वाले खातों का पता लगाने में मदद करती है। इससे खातों को बनाने के लिए उपयोग किए जाने वाले उपकरणों की पहचान भी की जा सकती है।

एक बार जब कोई यूजर बैन हो जाता है, तो आम तौर पर वे अलग-अलग ईमेल आईडी का उपयोग करके एक नया खाता बनाते हैं। हालांकि, MPL एक ही डिवाइस का उपयोग करके किए गए इन अनधिकृत लॉगिन प्रयासों की पहचान करता है और उनके एक्सेस को स्थायी रूप से बैन कर देता है।

No comments