Breaking News

UPSC Story: ये हैं वो अफसर जिन्होंने IAS बनने के लिए खुद को 6 महीने तक कमरे में कर लिया था बंद

UPSC Story: ये हैं वो अफसर जिन्होंने IAS बनने के लिए खुद को 6 महीने तक कमरे में कर लिया था बंद

हम जानते हैं कि UPSC परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षा है और इस परीक्षा को पास करने वालों को IAS अधिकारियों के रूप में नियुक्त किया जाता है. इच्छुक IAS उम्मीदवार UPSC परीक्षा को पास करने के लिए अपना बेस्ट प्रयास करते हैं और उनमें से कुछ अपने टारगेट को प्राप्त करने के लिए वास्तव में कड़ी मेहनत करते हैं. आईएएस अधिकारी निधि सिवाच एक ऐसी शख्सियत हैं, जिन्होंने यूपीएससी परीक्षा को पास करने के लिए खुद को 6 महीने तक एक कमरे में बंद रखा और पढ़ाई के लिए अपना बेस्ट दिया.

निधि की फैमिली वाले चाहते थे कि उनकी शादी कर दें, उनके सामने शर्त रखी गई कि या तो यूपीएससी क्लियर कर लो या फिर शादी कर लो. निधि ने परिवार की इस शर्त को मान लिया. उन्होंने ठान लिया कि इस बार उन्हें आईएएस की परीक्षा पास करनी ही है.

निधि सिवाच की मेहनत रंग लाई क्योंकि उन्होंने 2018 में तीसरे प्रयास में यूपीएससी परीक्षा पास करने में कामयाबी हासिल की और ऑल इंडिया रैंक 83 पाई. बाद में निधि का चयन आईएएस पद के लिए हुआ. निधि सिवाच हरियाणा के गुरुग्राम की रहने वाली हैं. उन्होंने अपनी कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं की परीक्षाओं में 95 फीसदी और 90 फीसदी नंबर हासिल किए थे. वह दीनबंधु छोटूराम विश्वविद्यालय, सोनीपत, हरियाणा से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट हैं.

अपनी इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद, निधि टेक महिंद्रा में एक डिज़ाइन इंजीनियर के रूप में काम करने के लिए हैदराबाद चली गईं लेकिन 2017 में नौकरी छोड़ दी और यूपीएससी परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी. निधि ने अपने ऑप्शनल सब्जेक्ट के रूप में इतिहास को चुना और ऑप्शनल मीडियम के रूप में अंग्रेजी को सेलेक्ट किया. निधि ने अपने ऑप्शनल सब्जेक्ट के रूप में इतिहास को चुनने का फैसला किया क्योंकि उन्होंने कहा कि उनके 9वीं और 10वीं कक्षा के सिलेबस ने उनकी बहुत मदद की.


No comments