Breaking News

New Year के जश्न में डूबा शिमला, रिज मैदान पर जमकर थिरके पर्यटक व स्थानीय लोग

New Year के जश्न में डूबा शिमला, रिज मैदान पर जमकर थिरके पर्यटक व स्थानीय लोग

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में पर्यटकों व स्थानीय लोगों ने नाच-गाकर व एक-दूसरे को शुभकामनाएं देकर नए साल का स्वागत किया। इस दौरान होटलों में देर रात तक नए साल का जश्न जारी रहा। शहर के सभी होटलों ने इस मौके पर डीजे पार्टी और लाइव बैंड का आयोजन किया था। होटलों में पर्यटकों के मनोरंजन के लिए डांस पार्टी, डाइन एंड डांस, कपल डांस व बेबी डांस हुआ। कई होटलों में गजल का कार्यक्रम भी करवाया गया। इस दौरान होटलों में न्यू ईयर केक भी काटा गया। देर रात तक होटलों में पार्टी चलती रही। शहर के साथ-साथ कुफरी, मशोबरा, नालदेहरा सहित आसपास के पर्यटन स्थलों के होटलों में नववर्ष की पार्टी में पर्यटकों ने खूब मस्ती की। एचपीटीडीसी के होटलों सहित सभी प्राइवेट होटलों में इस दौरान पर्यटकों को हिमाचली व्यंजन भी परोसे गए। वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने भी अधिकारियों सहित रिज पर घूमने का लुत्फ उठाया व सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

पुलिस ने शरारती तत्वों को खदेड़ा
वहीं न्यू ईयर की पूर्व संध्या व दिन के समय जहां लोग बधाइयां व जश्न मनाते नजर आए, वहीं देर रात को पुलिस ने कई शरारती तत्वों को भी खदेड़ा। कइयों को पुलिस ने इस दौरान चेतावनी भी दी। लोगों ने देर शाम तक जश्र मनाया लेकिन कुछ लोग नशे की हालत में पुलिस जवानों के साथ ही उलझ पड़े। पर्यटकों सहित स्थानीय लोगों ने नाटी डालकर न्यू ईयर का जश्र मनाया। पुलिस ने लोगों की सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम किए थे। न्यू ईयर का जिम्मा बड़े पुलिस अधिकारियों सहित 250 जवानों को सौंपा गया। महिला पुलिस भी शाम को ड्यूटी देती नजर आईं। रिज पर इतनी भीड़ रही कि लोगों के बीच भी जमकर धक्का-मुक्की चली। हजारों के हिसाब से लोग रिज व मालरोड पर पहुंचे। लोगों को चलने की भी जगह नहीं थी। शहर को सुरक्षा की दृष्टि से 6 सैक्टरों में बांटा गया था। प्रत्येक सैक्टर में एक अधिकारी तैनात रहा। पुलिस का सबसे ज्यादा पहरा शाम के समय में रिज व मालरोड पर रहा।

कोरोना को खुला न्यौता, लोगों ने नहीं पहने मास्क
रिज मैदान पर कोरोना फैलने को भी खुला न्यौता दिया गया। यहां 100 में से सिर्फ 5 प्रतिशत लोगों ने मास्क पहने थे। जबकि सरकार के निर्देश थे कि भीड़ भाड़ वाले क्षेत्रों में लोग मास्क पहनें, लेकिन सरकार के नियमों की भी लोगों ने धज्जियां उड़ाईं। यह जश्र लोगों को भारी पड़ सकता है।


क्रिसमस से न्यू ईयर तक 80 हजार से अधिक गाड़ियों की आवाजाही
क्रिसमस से न्यू ईयर तक 80 हजार से अधिक गाड़ियों की आवाजाही हुई है। ये गाड़ियां शिमला शहर में आईं व वापस गईं। 30 दिसम्बर को सोलन की तरफ से 5332 गाड़ियां प्रवेश हुईं, वहीं शिमला से सोलन तक 10037 गाड़ियां गईं। इसके अलावा 31 दिसम्बर को सुबह 8 बजे से 2 बजे तक सोलन से शिमला की ओर 4669 व शिमला से सोलन की तरफ 2410 गाड़ियां गईं। हालांकि शाम तक गाड़ियों की संख्या इससे भी ज्यादा बढ़ी।

70 हजार से अधिक पर्यटक पहुंचे शिमला
नववर्ष के जश्र के लिए शनिवार को 70 हजार से अधिक पर्यटक शिमला पहुंचे। शिमला सहित आसपास के पर्यटन स्थलों में पर्यटकों ने नए साल का जश्र मनाया। अधिकतर पर्यटक पंजाब, चंडीगढ़, हरियाणा, दिल्ली से पर्यटक शिमला पहुंचे। इससे पूर्व क्रिसमस पार्टी के लिए यहां 50 हजार से अधिक पर्यटक पहुंचे थे। पर्यटक शिमला के साथ-साथ नारकंडा, कुफरी, मशोबरा, नालदेहरा व चायल घूमने आते हैं।

न्यू ईयर की पूर्व संध्या पर शहर हुआ जाम
न्यू ईयर की पूर्व संध्या पर राजधानी जाम हो गई। दिन के समय तो लोगों को उतनी ज्यादा जाम से परेशानी नहीं हुई, लेकिन संध्या के समय शहर पूरी तरह से जाम हो गया। ऐसे में जाम को बहाल करने के लिए पुलिस के भी पसीने छूट गए। शहर में दिन के समय में भी गाड़ियां सुबह से ही आराम-आराम से सरकती रहीं। शाम के समय में जाम कुछ इस तरह से लग गया कि लोगों को मिनटों का सफर घंटों में तय हुआ। इस दौरान पर्यटकों सहित लोगों को दिक्कतें झेलने में मजबूर होना पड़ा।

कुफरी और फागू में हल्की बर्फबारी में फंसी गाड़ियां
फागू, कुफरी, नारकंडा और हाटू में बीती रात हुई हल्की बर्फबारी के कारण सुबह के समय गाडिय़ां फंसी, जिस कारण काफी समय तक लम्बा जाम लगा। हल्की बर्फ बारी में ही प्रशासन के इंतजाम करने के दावे दम तोड़ गए। वाहन बर्फ पर स्किड होते रहे लेकिन वहां वाहनों को निकालने के लिए कोई नहीं था। लोग खुद ही धक्के देकर वाहनों को निकालते रहे। सड़क पर न तो रेत रखी थी न ही मिट्टी डालने की कोई व्यवस्था की गई थी

कुफरी में बर्फ देखने को उमड़ी पर्यटकों की भीड़
पर्यटन केंद्र में बीते शुक्रवार को हुए हल्के हिमपात को देखने के लिए शनिवार सुबह ही भारी संख्या में सैलानी कुफरी पहुंचे। कुफरी स्थित महासु पीक की चोटी पर जमीं बर्फ में दिनभर पर्यटक मौज-मस्ती करते रहे। शनिवार को दिन भर साफ मौसम व खिली धूप के बीच पर्यटक घोड़ों की सवारी, सैल्फी व बर्फ के बीच फोटोग्राफी का आनन्द लेते रहे। दूसरी तरफ ए यूजमैंट पार्क हिपहिप हुर्रे में आईस्केटिंग को लेकर भी सैलानी काफी खुश नजर आ रहे थे।

सैलानियों को किसी प्रकार से तंग न किया जाए : मुख्यमंत्री
प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा है कि सैलानी राज्य के आय के स्त्रोत हैं। बाहरी राज्यों से यह यहां घूमने आते हैं। इन्हें किसी प्रकार से तंग न किया जाए। इस संबंध में जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन को निर्देश दे दिए गए हैं। उन्होंने कहा है कि शिमला, मनाली, कसौली व धर्मशाला सहित पर्यटन स्थलों में ढाबे रेस्तरां को 24 घंटे खोलने के आदेश पहले ही दे दिए गए हैं।

वोल्वो बसों को शहर में नहीं होने दिया प्रवेश
पुलिस ने बढ़ी वोल्वों बसों को शहर में प्रवेश नहीं होना दिया। बसों को टुटीकंडी बाईपास से तारादेवी भेजा गया, वहीं कई गाड़ियां ऐसी थीं जो बिना किसी कारणों के शहर के तरफ आना चाह रही थीं, ऐसे में उन गाड़ियों को भी शहर में प्रवेश नहीं होने दिया गया।

No comments