Breaking News

Big Breaking: Post Office में 10 लाख से अधिक खाते होंगे बंद, कहीं आपका खाता तो नहीं है शामिल?

Big Breaking: Post Office में 10 लाख से अधिक खाते होंगे बंद, कहीं आपका खाता तो नहीं है शामिल?

Big Breaking: पोस्ट ऑफिस यानि डाकघर आज देश के कौने-कौने में फैला हुआ है। दुर्गम ग्रामीण क्षेत्र में जहां बैंकिंग की सुविधा भी नही है डाकघर वहां पर भी मौजूद है। यही कारण है कि आम आदमी का पोस्ट ऑफिस में खाता खुला होता है। लेकिन अब एक ऐसी खबर सामने आ रही है जिसकी यदि आपको जानकारी नहीं है तो आपका खाता बंद हो सकता है और आपके जमा पैसे भी आपको नही मिलेंगे। खबर आम आदमी से जुड़ी है इसलिए इस बारे जानकारी होनी चाहिए।

जानकारी के मुताबिक डाक विभाग के 10,91,840 खाते अगले छह माह में बंद हो जाएंगे। खाताधारकों ने इन खातों में अपने आधार को लिंक नहीं करवाया है। अनिवार्य होने के बाद अगर खाताधारकों ने अपने खातों में आधार नंबर को नहीं दर्ज करवाया तो ये पूरी तरह निष्क्रीय हो जाएंगे। एक अप्रैल से इसे लागू किया जाना था। मंडल के डाकघर में शासन की अधिसूचना आने के बाद अब यहां भी इसे लागू कर दिया गया।

बात ये है कि सरकार ने डाकघरों के विभिन्न खातों के लिए आधार अनिवार्य कर दिया है। आधार से लिंक नहीं होने पर खाते बंद हो जाएंगे। हालांकि, पुराने खाताधारकों को यह कार्य 31 मार्च तक कराना था। लेकिन, 4 अप्रैल को जारी शासनादेश में इसमें बदलाव कर दिया गया। अब नियम के अनुसार, पुराने या नए खाताधारक एक अप्रैल 2023 से अगले छह महीने के भीतर डाकघर में खुले अपने खाते से आधार को लिंक करवा सकते हैं।

इसके अलावा, नए खाते खुलवाने के लिए मौके पर ही अनिवार्य रूप से मोबाइल व आधार नंबर देना होगा। इसके बिना अब डाकघर में किसी भी तरह का काम नहीं होगा। इसके अलावा डाकघर में राष्ट्रीय बचत पत्र (एनएससी), किसान विकास पत्र (केवीपी), लोक भविष्य निधि (पीपीएफ), आवर्ती जमा (आरडी) सहित एमआईएस, एसबी समेत अन्य योजनाओं के तहत सुविधा का लाभ ग्राहकों द्वारा लिया जाता है। डाकघर में खोले गए ऐसे सभी खातों में अब आधार लिंक होना अनिवार्य है।

प्रवर डाक अधीक्षक (एसएसपी) मनीष कुमार ने बताया कि डाकघर के सभी खाताधारकों के खाते आधार से लिंक होने जरूरी है। सरकार ने एक मौका और दिया है। अगर आप इसमें चूक गए तो उनके खाते बंद हो जाएंगे।

पैन कार्ड भी लिंक हो, लेकिन कुछ शर्तें हैं

डाकघर के जिन खातों में दस हजार रुपये जमा हैं, या पचास हजार रुपये से अधिक का निकासी कर चुके हों, उन्हें अपने खातों से आधार और पैन अनिवार्य रूप से जुड़वाना होगा। 3 अप्रैल को जारी शासनादेश में पैन कार्ड वाले खाताधारकों को भी निर्देश दिए गए हैं।

14 लाख खातों में नहीं जुड़े हैं मोबाइल नंबर

एसएसपी मनीष कुमार ने बताया कि डाकघर के 14 लाख से अधिक खातों में मोबाइल नंबर नहीं दर्ज हैं। इन खातों पर भी कार्रवाई होगी। सरकार की तरफ से 1 अप्रैल 2023 से अगले छह महीनों में इन खाताधारकों को भी अपनी मोबाइल नंबर खाते में दर्ज करवाना होगा। नहीं करवाए तो खाता और उसकी धनराशि दोनों जब्त हो जाएगी।

बंद हो जायेंगे फर्जी खाते भी

डाकघर में पिछले दिनों पुराने खाते, जो बंद हो गए थे, उनसे रुपये के हेरफेर की बात सामने आई थी। तब जांच में सामने आया कि डेड खातों से डाककर्मी सांठगांठ कर रुपयों की निकासी कर लेते थे। उन खातों पर लंबे समय से कोई भी खातेदार दावे के लिए नहीं आते थे। अब आधार अनिवार्य हो जाने से ऐसे सभी खाते खुद बंद हो जाएंगे।

सब्सिडी भी हो जाएगी बंद

सरकार से किसी भी प्रकार की सब्सिडी लेते हैं, तो डाकघर के खाते को आधार से जरूर लिंक करवा लें। एसएसपी ने बताया कि ऐसे आधार का नंबर लिंक नहीं होने से खाताधारकों की सभी सब्सिडी भी बंद हो जाएगी। इससे उन्हें आर्थिक क्षति भी होगी।

इसलिए जरूरी है कि आने वाले छह माह के भीतर आप अपने खाते को आधार से लिंक करवा लें और आर्थिक हानि से बचें।

No comments