Breaking News

पहले आसमानी आफत और अब धरती ने डराया, भूकंप के ताबड़तोड़ 2 झटकों से कांपा हिमाचल

पहले आसमानी आफत और अब धरती ने डराया, भूकंप के ताबड़तोड़ 2 झटकों से कांपा हिमाचल

शिमला. भारी बारिश के बाद नदियों के उफान पर आने की वजह से बाढ़ की आपदा झेल रहे हिमाचल प्रदेश पर गुरुवार को एक और प्राकृतिक आपदा आई. हालांकि, इससे किसी तरह का नुकसान होने की कोई खबर नहीं है. दरअसल, अधिकारियों ने बताया कि लाहौल-स्पीति जिले में मध्यम तीव्रता के भूकंप के दो झटके एक के बाद एक महसूस किए गए.

मौसम विभाग ने बताया कि बुधवार रात नौ बज कर करीब 30 मिनट पर और 11 बज कर करीब सात मिनट पर आए भूकंप के इन झटकों का केंद्र 10 किलोमीटर की गहराई पर था और इनकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 3.2 और 3.1 दर्ज की गई. अधिकारियों ने बताया कि भूकंप से जिले के किसी भी हिस्से में जान- माल की हानि होने की सूचना नहीं है. जनजातीय बहुल लाहौल- स्पीति भूकंपीय क्षेत्र-चार (सीस्मिक जोन 4) में आता है, जो एक उच्च क्षति-जोखिम वाला क्षेत्र है.

हिमाचल प्रदेश में सैकड़ों पर्यटक फंसे, 1100 से ज्यादा सड़कें बंद

इस बीच, हिमाचल प्रदेश सरकार ने बुधवार को दावा किया कि पिछले तीन दिनों में कुल्लू और मनाली से लगभग 25,000 पर्यटकों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है, लेकिन सैकड़ों लोग फंसे हुए हैं क्योंकि भूस्खलन और बाढ़ के कारण 1,100 से अधिक सड़कें अभी भी बंद हैं. खबरों के मुताबिक चंबा, शिमला, सिरमौर, किन्नौर और अन्य जिलों में बड़ी संख्या में पर्यटक फंसे हुए हैं. मोबाइल ‘कनेक्टिविटी’ बंद होने के बाद जो लोग अधिकारियों से संपर्क नहीं कर पा रहे थे, वे अब पुलिस और जिला प्रशासन से संपर्क कर रहे हैं.


No comments